रूस की सबसे जानी पहचानी एथलीट और टोक्यो ओलंपिक की गोल्ड मेडलिस्ट एला शिशकिना (Alla Anatolyevna Shishkina) की गिनती दुनिया के मशहूर एथलीट के रूप में की जाती है। हाल ही में यह नाम अचानक सुर्खियों में आ गया है। इसकी वजह है एथलीट एला शिशकिना का दिया एक बयान।

दरअसल एला का कहना है कि शारिरिक संबंध बनाने से उन्हें ताकत मिलती है। उनके अनुसार यह उनके फिजिकल एक्सरसाइज का ही एक प्रकार है। सिर्फ इतना ही नहीं उन्होंने इस बात को भी स्वीकार किया कि मैदान में परफॉर्मेंस देने के पहले वे शारीरीरक सम्बंध बनाने को प्राथमिकता देती हैं।

गौरतलब है कि एथलीट एला टोक्यो ओलंपिक्स 2020 में अपने देश को गोल्ड मेडल दिलाने में सफल रही थीं। आपको बता दें कि एला सिन्क्रोनाइज्ड स्वीमिंग प्रतिस्पर्धा की खुलाड़ी रही हैं और इससे पहले साल 2016 के रियो ओलंपिक्स और साल 2012 में हुए लंदन ओलंपिक्स में भी गोल्ड मेडल उन्होंने अपने ही खाते में डाला था।

गोल्ड जितने के बाद एला रूस में काफी छाई हुई है। अभी हाल ही में उन्होंने न्यूज आउटलेट स्पोर्ट्स एक्सप्रेस के साथ अपनी ऑन फील्ड परफॉर्मेंस को लेकर बातचीत के दौरान कई राज खोले।

एला अपनी इस बातचीत के दौरान बताती है कि मैं साइंस, रिसर्च और डॉक्टर्स की सलाह पर ही यकीन करती हूं और यही वजह है कि मैंने इस बारे में अपने डॉक्टर डेनिस से सबसे पहले कंसल्ट किया था। और पूरी ही साइंटिफिक कम्युनिटी यह बात मानती है कि अगर आपको अपने प्रोफेशनल स्पोर्ट्स में कम समय में निरंतर पूरी ताकत डालते हुए अच्छा परफॉर्म करना है तो शारीरिक संबंध इस मामले में आपकी सफलता की चाबी बन सकता है।

वहीं एथलीट एला का यह भी कहना है कि अगर आपको लंबी दूरी तय करनी है और आपका परफॉर्मेंस फील्ड पर काफी उतार-चढ़ाव से भरा रहता है तो उस वक्त मैं शायद शारीरिक संबंध को प्राथमिकता ना दे पाऊं। हालांकि मैं इस बात में भी यकीन करती हूं कि हर इंसान की बॉडी अलग होती है, और उसे उसके हिसाब से ही फैसला लेना चाहिए और अगर वे सहज हैं तो वे अपने डॉक्टर्स से सलाह लेकर ऐसे रूटीन्स फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *