Notes From Crops In Field: पाकिस्तान की कंगाली जगजाहिर है. दुनियाभर के देश उसे कर्ज दे देकर थक गए हैं, लेकिन उसकी कंगाली खत्म होती नजर नहीं आ रही है. लेकिन हाल ही में एक ऐसा वीडियो सामने आया है जिसे देखकर ऐसा लग रहा है कि पाकिस्तान अब अमीर होने वाला है. क्योंकि ऐसा लगता है कि वहां पैसों की खेती शुरू हो गई है. इसमें क्या सच्चाई है इसके लिए वीडियो देखिए और ये खबर पढ़िए.

वहां पैसों की खेती हो रही?

दरअसल, इस वीडियो को गुलाम डोगर नामक एक यूजर ने इंस्टाग्राम पर शेयर किया है. इसने अपने हैंडल पर कई ऐसे वीडियोज पोस्ट किए हैं जिसे देख कर लग रहा है कि वहां पैसों की खेती हो रही है. वीडियो में दिख रहा है कि एक शख्स जमीन में उगी हुई मूली को निकालता है और उसी से नोट निकालता है. हैरानी की बात यह कि है कई इसे देखकर लग रहा है कि यह नोट मूली में ही बना है.

वीडियो देख कर भी लोग हैरत में

सोशल मीडिया पर गुलाम नबी डोगर नाम के एक शख्स ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर ऐसे कई वीडियो शेयर किए हैं. जिसे देखने के बाद पाकिस्तान से लेकर दुनियाभर में हड़कंप मच गया है. वीडियो में एक शख्स जमीन के नीचे उगने वाली आलू से लेकर पेड़ के तने और लौकी के अंदर से पैसे निकालते नजर आ रहा है. जिसे देखने के बाद हर कोई इसे एडिटेड वीडियो बता रहा है.

इंस्टाग्राम पर शेयर की गई एक वीडियो में गुलाम नबी को लौकी को पौधे से लगी हुई लौकी को खेत में ही काटकर उसके अंदर से पैसे निकलाते देखा जा रहा है. जिसे देख हर किसी को अपनी आंखों पर यकीन नहीं हो रहा है. वहीं एक अन्य वीडियो में गुलाम नबी बांस के तने को काटते नजर आ रहे हैं. जिसके अंदर से सिक्के निकलते नजर आ रहे हैं.

एक अन्य वीडियो में शख्स को पेड़ की छाल को काटते देखा जा सकता है. जिसके अंदर से शख्स पाकिस्तान के 50 रुपये का नोट निकालता है. एक अन्य वीडियो में शख्स को खेत में लगी मूली को काटते देखा जा रहा है. जिसके अंदर अचानक से ही 100 रुपये के नोट को निकलते देखा जा रहा है. फिलहाल यूजर्स बड़ी तादाद में इसे फर्जी वीडियो बता रहे हैं.

इसमें क्या सच्चाई है?

असल में कुछ यूजर्स का दावा है कि यह वीडियो एडिटेड है, इसे एडिट किया गया है. वहीं कुछ का यह दावा है कि फसल में पहले से ही यह सब पैसे छुपा दिए गए हैं. फिर इनका वीडियो बनाया गया है. वैसे इसमें क्या सच्चाई है, यह शोध का विषय है. लेकिन यह वीडियो वायरल जरूर हो रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *