आज हम आपको अपने इस आर्टिकल Intresting Fact India में एक ऐसे गांव के बारे मे बताने जा रहे हैं‚ जहाँ के लोग शाम के 7 बजते ही मोबाइल और टीवी चलाना बन्द कर देते हैं।

अपने देश में ऐसी बहुत सी जगह हैं‚ जो अलग–अलग वजह से बहुत ही लोकप्रिय (Intresting Fact India) हैं। जैसे महाराष्ट्र स्थित उस्मानाबाद जनपद के एक गांव में बंदरों के नाम 32 एकड़ जमीन रजिस्टर्ड है‚ वहीं बिहार के ‘धरहरा’ गांव में बेटी के जन्म पर 10 पौधे लगाए जाते हैं। ऐसा ही गांव है वडगांव‚ जो महाराष्ट्र के सांगली जिले में आता है जहाँ शाम 07 बजे एक सायरन बजते ही सभी लोग अपने मोबाइल और टीवी बंद कर लेते हैं।

कैसे लगी मोबाइल और टीवी की लत

मार्च 2020 में जब कोरोना महामारी आई, तो लाकडाउन के कारण से स्कूल बंद कर दिये गये थे और स्कूलों ने ऑनलाइन क्लास शुरू कर दी थी। सभी बच्चों को घर में मोबाइल या कम्प्यूटर के माध्यम से ऑनलाइन क्लास करनी पड़ रही थी‚ जिसके कारण बच्चों का अधिकांश समय मोबाइल फोन के साथ ही व्यतीत होने लगा था।

बाद में जब लॉकडाउन हटाया गया और बच्चों के स्कूल पूर्व की भाँति ही प्रारम्भ हो गये‚ फिर भी बच्चों को मोबाइल की इतनी आदत पड़ चुकी थी कि जैसे भी बच्चे स्कूल से घर आते थे तो वे आकर ही सीधा मोबाइल चलाना शुरू कर देते थे.और मोबाइल से हटते थे तो टीवी देखने लग जाते थे। जिस कारण से बच्चों का अपने परिवार के लोग से आपसी बातचीत बहुत कम होती जा रही थी।

क्या है गांव का नया नियम

बच्चों के माता–पिता के लिये बच्चों की इस आदत को खत्म करना बहुत ही मुश्किल लग रहा था। यह समस्या गांव के लगभग सभी परिवार की थी, जिसको देखते हुये वहाँ के लोगों ने मिलकर एक समाधान निकालने के बारे सोचा।

ग्राम प्रधान ने सभी से चर्चा कर यह निर्णय लिया कि गाँव में शाम के सात बजे एक सायरन बजाया जायेगा‚ जिसके बजते ही गांव के सभी लोग अपना मोबाइल और अपना टीवी बंद करना होगा और पुनः 8:30 फिर से एक सायरन बजाया जायेगा, जिसके बाद लोग अपना मोबाइल और टीवी चालू कर सकते हैं। गांव में ये नियम 15 अगस्त से एक दिन पहले यानी 14 अगस्त को लागू किया गया है।

लागू करने में क्या पेरशानी आयी

Intresting Fact India ग्राम प्रधान को यह नियम लागू करने में सभी सदस्यों की सहमति लेने में परेशानी का सामना करना पड़ा। ग्राम प्रधान अनुसार‚ जब उन्होंने अपना ये सुझाव गांव के अन्य सदस्यों के सामने रखा था, तो कई लोग इस पर मजाक उड़ाने लगे‚ जिसके बाद गांव की पंचायत ने गांव महिलाओं को इकट्ठा किया और उन्हें इस सुझाव से अवगत कराया‚ गांव की महिलाएं इस सुझाव पर सहमत हो गयी कि गांव में एक घंटा मोबाइल फ़ोन और टीवी बंद रहना चाहिए।

महिलाओं की सहमति के बाद इस फैसले के लागू कर दिया गया‚ जिसके लिये गांव के एक मंदिर के ऊपर सायरन लगाया गया, जो शाम 07 बजे और फिर 08ः30 बजे बजता है‚ और सायरन बजते ही गांव के लोगों को अपना मोबाइल व टीवी बन्द करनी होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *